झुंझुनूं जिले में पर्यटन स्थल

झुंझुनूं जिले में पर्यटन स्थल , 

 झुंझुनूं जिले में पर्यटन स्थल जिला-झुंझुनूं झुंझुनूं शहर झुंझुनूं शहर में भित्ति चित्रों, स्मारकों, धार्मिक स्थलों व कलात्मक जलाशयों आदि की विविधताओं के दर्शन होते हैं। यहाँ कमरुद्दीन शाह की दरगाह’ का विशाल और विहंगम परिसर देखने लायक है। पहाड़ी पर बना ‘मनसा माता का मंदिर’ भी दर्शनीय है। ‘ईश्वदास मोदी की हवेली’ में भित्ति …

झालावाड़ जिले में पर्यटन स्थल

झालावाड़ जिले में पर्यटन स्थल ,

 झालावाड़ जिले में पर्यटन स्थल जिला-झालावाड़ गढ़ भवन पैलेस इसका निर्माण सन् 1838 में झाला राजा मदनसिंह द्वारा कराया गया था। गढ़ का शीश महल आकर्षक है। इसके एक हिस्से में बने राजाओं के चित्र अभी भी अपने चटखे रंगों के कारण खूबसूरत लगते हैं। सग्रहालय गढ़ भवन पैलेस के मुख्य द्वार के पास ही …

जालोर जिले में पर्यटन स्थल

जालोर जिले में पर्यटन स्थल ,

जालोर जिले में पर्यटन स्थल जिला-जालोर जालोर का दर्ग जालोर ऐतिहासिक महत्त्व का स्थान है जो प्राचीन एवं मध्यकालीन समय में जाबालिपुर’ के नाम से जाना जाता था। राजस्थान के सबसे प्रसिद्ध किलों में से एक जालोर का किला, नगर के दक्षिण में एक पहाड़ी पर स्थित है। परमार राजपूतों द्वारा इस ‘स्वर्णगिरि दुर्ग’ का …

जैसलमेर जिले में पर्यटन स्थल

जैसलमेर जिले में पर्यटन स्थल ,  

  जैसलमेर जिले में पर्यटन की द्ष्टि से महत्वपूर्ण दर्शनिक स्थल जिला-जैसलमेर जैसलमेर दुर्ग (सोनार का किला) राव जैसल भाटी द्वारा बसाया गया यह शहर नीची पर्वत श्रृंखलाओं के दक्षिणी छोर पर बसा हुआ है। नगर के दो प्रमुख प्रवेश द्वार हैं। गढ़सीसर दरवाजा (पूर्व में) तथा अमरसागर दरवाजा (पश्चिम में)। चूंकि यह किला और …

 सीकर जिले में पर्यटन की द्ष्टि से महत्वपूर्ण दर्शनिक स्थल

 सीकर जिले में पर्यटन की द्ष्टि से महत्वपूर्ण दर्शनिक स्थल ,

 सीकर जिले में पर्यटन की द्ष्टि से महत्वपूर्ण दर्शनिक स्थल जिला-सीकर हर्ष गिरी (हर्षनाथ) सीकर नगर से 24 किलोमीटर दक्षिण में अरावली के 3 हजार 110 फीट ऊँचे पहाड़ी शिखर हर्षगिरी पर दसवीं शताब्दी का प्राचीन शिवालय दर्शनीय है। जीणमाता सीकर जिला मुख्यालय से 30 किलोमीटर दूर गोरियाँ के निकट रैवासा में दसवीं सदी का जीण …

 राजसमंद जिले में पर्यटन की द्ष्टि से महत्वपूर्ण दर्शनिक स्थल

राजसमंद जिले में पर्यटन की द्ष्टि से महत्वपूर्ण दर्शनिक स्थल

 राजसमंद जिले में पर्यटन की द्ष्टि से महत्वपूर्ण दर्शनिक स्थल जिला-राजसमंद राजसमंद झील महाराणा राजसिंह द्वारा सन् 1669 से 1676 तक के वर्षों में बनवाई गयी यह राजसमंद झील मेवाड़ क्षेत्र की विशालतम झीलों में से | एक है। राजसमंद झील का निर्माण गोमती नदी को दो पहाड़ियों के बीच में रोक कर किया गया …

 पाली जिले में पर्यटन की द्ष्टि से महत्वपूर्ण दर्शनिक स्थल

 पाली जिले में पर्यटन की द्ष्टि से महत्वपूर्ण दर्शनिक स्थल

 पाली जिले में पर्यटन की द्ष्टि से महत्वपूर्ण दर्शनिक स्थल जिला-पाली रणकपुर (राणकपुर) तीर्थ जिले के सादड़ी कस्बे से करीब आठ-दस किलोमीटर दूर मधाई नदी के तट पर स्थित रणकपुर के जैन मंदिर अपने बेजोड़ स्थापत्य एवं उत्कृष्ट शिल्प कला के कारण देश-विदेश में विख्यात हैं। विविध प्रकार के 24 मण्डपों से सुसज्जित 1444 स्तम्भों …

सिरोही जिले में पर्यटन की द्ष्टि से महत्वपूर्ण दर्शनिक स्थल

सिरोही जिले में पर्यटन की द्ष्टि से महत्वपूर्ण दर्शनिक स्थल

 सिरोही जिले में पर्यटन की द्ष्टि से महत्वपूर्ण दर्शनिक स्थल जिला-सिरोही सारणेश्वर महादेव सिरोही से लगभग तीन किलोमीटर दूर देवड़ा राजकुल का भव्य सारणेश्वर महादेव मंदिर है। इसमें एक दूधिया तालाब भी है जिसके पास ही सिरोही राजघराने की छतरियाँ हैं। सूर्य मंदिर सिरोही जिले के विभिन्न स्थलों पर सूर्य मंदिर है जिनमें अनादरा, बसंतगढ़, वासा, …

 टोंक जिले में पर्यटन की द्ष्टि से महत्वपूर्ण दर्शनिक स्थल

 टोंक जिले में पर्यटन की द्ष्टि से महत्वपूर्ण दर्शनिक स्थल ,

 टोंक जिले में पर्यटन की द्ष्टि से महत्वपूर्ण दर्शनिक स्थल जिला-टोंक भूमगढ़ (टोंक) 17वीं शताब्दी में भोला नामक ब्राह्मण ने अपनी भौम की रक्षा एवं प्रशासन की दृष्टि से भूमगढ़ का निर्माण कराया जिसे नवाब अमीर खाँ ने पूरा कराया। इसे अमीरगढ़ किला भी कहा जाता है। इस किले के समीप खुदाई में जैन तीर्थंकरों …

उदयपुर जिले में पर्यटन की द्ष्टि से महत्वपूर्ण दर्शनिक स्थल

उदयपुर जिले में पर्यटन की द्ष्टि से महत्वपूर्ण दर्शनिक स्थल

 उदयपुर जिले में पर्यटन की द्ष्टि से महत्वपूर्ण दर्शनिक स्थल जिला-उदयपुर राजमहल (सिटी पैलेस) पिछोला झील के तट पर स्थित उदयपुर के राजमहल इतने सुंदर और भव्य हैं कि प्रसिद्ध इतिहासकार फर्ग्युसन ने इन्हें राजस्थान के विंडसर’ महलों की संज्ञा दी। राजमहल दो हिस्सों में विभाजित है। मर्दाना महल और जनाना महल। मर्दाना महल में …