Gk/Gs

Force Or Types of Force PDF in Hindi

Force Or Types of Force PDF in Hindi ,

बल (Force) Or बल के प्रकार ( Types of Force ) बल (Force) किसी वस्तु को खींचने या धकेलने में किया गया कार्य बल कहलाता है। बल की दिशा वेग की दिशा के लम्बवत होती है। (बल = द्रव्यमान x त्वरण) बल का मात्रक ‘डाइन’ व ‘न्यूटन’ होता है। (1 न्यूटन = 105 डाइन) बल …

What is optics PDF in Hindi

What is optics PDF in Hindi , प्रकाशिकी क्या है ? परिभाषा ,

प्रकाशिकी क्या है ? परिभाषा ( what is optics in hindi ) प्रकाश तथा प्रकाशीय घटनाएँ   विभिन्न माध्यमों में प्रकाश की चाल — निर्वात 3 x 10° m/s 2. पानी 2.25 x 10 m/s 3. नाइलोन 1.96 x 10% m/s 4. काँच 2 x 10 m/s प्रकाश की सर्वाधिक चाल – 3 x 10 …

Modulation And Types of Modulation in Hindi

Modulation And Types of Modulation in Hindi ,

मॉडुलन (Modulation) or मॉडुलन के प्रकार मॉडुलन (Modulation) जब किसी उच्च आवृत्ति वाली रेडियो तरंग के कुछ अभिलक्षणों (characteristics) जैसे आयाम, आवृत्ति अथवा कला (amplitude, frequency अथवा phase) में श्रव्य सिग्नल (audio signal) के तात्कालिक मान के अनुसार परिवर्तन होता है तो यह प्रक्रिया (process) मॉडुलन (modulation) कहलाती है तथा मॉडुलित तरंग से मूल श्रव्य …

Electromagnetic waves (Radio Waves) in Hindi

विद्युतचुम्बकीय तरंगों (रेडियो तरंगों) का संचरण  [Propagation of Electromagnetic waves (Radio Waves)] संचार (Communication) का अर्थ सूचना (information) के प्रेषण (transmission) से होता है। रेडियो तरंगों की सहायता से संचार में प्रेषी ऐन्टीना विद्युतचुम्बकीय तरंगें उत्सर्जित करता है। ये तरंगें अन्तरिक्ष (space) में चलकर ग्राही ऐन्टीना (receiving antenna) द्वारा ग्रहण होती हैं जहाँ पर प्रेषित …

जयपुर जिले में पर्यटन स्थल

जयपुर जिले में पर्यटन स्थल ,

जयपुर जिले में पर्यटन स्थल जिला-जयपुर ‘भारत का पेरिस’ और ‘गुलाबी नगर’ के नाम से प्रसिद्ध जयपुर’ नगर अपने बेजोड़ नगर नियोजन के लिए विश्वविख्यात है। कछवाहा वंश के महाराजा सवाई जयसिंह द्वितीय ने जयपुर की स्थापना 18 नवम्बर, 1727 को की गई थी। नगर के संस्थापक सवाई जयसिंह द्वितीय के मुख्य वास्तुकार और नगर …

श्रीगंगानगर or हनुमानगढ़ जिले में पर्यटन स्थल

श्रीगंगानगर or हनुमानगढ़ जिले में पर्यटन स्थल जिला-श्रीगंगानगर गुरुदारा बुड्ढा जोहड़ जिले के रायसिंह नगर कस्बे के पास स्थित गुरुद्वारा बुड्ढ़ा जोहड़ राजस्थान के गुरुद्वारों में प्रमुख स्थान रखता है। इस गुरुद्वारे का निर्माण सन् 1954 में संत बाबा फतेहसिंह की देखरेख में शुरू हुआ। यहाँ पर हर माह की अमावस्या को मेला लगता है। …

डूंगरपुर जिले में पर्यटन स्थल

डूंगरपुर जिले में पर्यटन स्थल ,

डूंगरपुर जिले में पर्यटन स्थल जिला-डूंगरपुर गैप सागर डूंगरपुर शहर के सौन्दर्य में चार चांद लगाता है गैप सागर नामक जलाशय जो स्थापत्य कला के चतुर चितेरे महारावल गोपीनाथ द्वारा बनवाया गया। इसके तट पर अवस्थित महाराव उदयसिंह द्वारा बनवाया गया उदय विलास महल तथा विजय राज राजेश्वर मंदिर स्थापत्य के अद्भुत नमूने हैं। श्रीनाथ …

नागौर जिले में पर्यटन स्थल

नागौर जिले में पर्यटन स्थल ,

नागौर जिले में पर्यटन स्थल जिला-नागौर नागौर दुर्ग सोमेश्वर चौहान के सामन्त कैमास ने विक्रम संवत् 1211 में नागौर दुर्ग का निर्माण करवाया था। इसकी प्राचीर में 28 विशाल बुर्जे बनी हुई हैं। यह किला दोहरे परकोटे में बहुत ही सुदृढ़ बना हुआ है। राव अमर सिंह राठौड़ की छतरी नागौर में झड़ा तालाब पर …

कोटा जिले में पर्यटन स्थल

कोटा जिले में पर्यटन स्थल

कोटा जिले में पर्यटन स्थल जिला-कोटा चम्बल उद्यान कोटा शहर में चम्बल नदी के तट पर लगभग दस एकड़ भूमि में स्थित यह उद्यान राज्य के श्रेष्ठतम उद्यानों में से एक है। हाड़ौती यातायात प्रशिक्षण पार्क चम्बल उद्यान के निकट 12 एकड़ भूमि पर निर्मित यातायात पार्क राजस्थान का प्रथम व देश के सर्वश्रेष्ठ यातायात …

जोधपुर जिले में पर्यटन स्थल

जोधपुर जिले में पर्यटन स्थल ,

 जोधपुर जिले में पर्यटन स्थल जिला-जोधपुर जोधपुर नगर जोधपुर शहर की स्थापना रावनी गई। राव जोधा ने मंडोर की समझकर चिड़ियानाथजी की ट्रैक पर शहर की स्थापना राव जोधा द्वारा 12 मई, 1459 में की जोधा ने मंडोर को सामरिक दृष्टि से अनुपयुक्त एवं असुरक्षित त्यानाथजी की ट्रॅक पहाड़ी पर ज्येष्ठ सुदी 11, शनिवार 1459 …